What is Super Computer in Hindi: सुपर कंप्यूटर क्या है पूरी जानकारी हिंदी में

What is Super Computer in Hindi: सुपर कंप्यूटर क्या है पूरी जानकारी हिंदी में

What is Super Computer in Hindi, सुपर कंप्यूटर क्या है? : सुपर कंप्यूटर दुनिया का सबसे तेज़ कंप्यूटर होता है जो बहुत स्पीड के साथ महत्वपूर्ण मात्रा में डेटा को प्रोसेस कर सकता है। जो कंप्यूटर हम अपने घर में या ऑफिस में इस्तेमाल करते है उसकी तुलना में में “सुपर कंप्यूटर” का कंप्यूटिंग परफॉरमेंस बहुत अच्छी होती हिया। सुपरकंप्यूटर का कंप्यूटिंग प्रदर्शन MIPS के बजाय FLOPS (अर्थात फ्लोटिंग-पॉइंट ऑपरेशंस प्रति सेकंड) में मापा जाता है। आपको बता दें कि जिस तरह हमारे साधारण कंप्यूटर में एक या दो प्रोसेसर होते हैं उसी तरह कंप्यूटर में हजारों प्रोसेसर होते हैं जो प्रति सेकंड के हिसाब से अरबों और खरबों गणनाएं कर सकते हैं, या आप कह सकते हैं कि सुपर कंप्यूटर लगभग सौ क्वाड्रिलियन FLOPS तक पहुंचा सकते हैं।

सुपर कंप्यूटर बड़े पैमाने पर समानांतर कंप्यूटिंग के ग्रिड से क्लस्टर सिस्टम (Cluster system computing) में विकसित हुए हैं। आपको बता दें कि क्लस्टर सिस्टम कंप्यूटिंग का मतलब है कि एक मशीन एक नेटवर्क में अलग-अलग कंप्यूटरों की सरणियों के बजाय एक सिस्टम में कई प्रोसेसर (processors) का उपयोग किया जाता है।

सुपर कंप्यूटर की सबसे खास बात यह होती है कि ये आकार में सबसे विशाल हैं। एक सबसे शक्तिशाली सुपर कंप्यूटर कुछ फीट से लेकर सैकड़ों फीट तक तक की जगह को कवर कर सकता है। सुपरकंप्यूटर की कीमत हमारे घरों और ऑफिस में इस्तेमाल होने वाले कंप्यूटर से कई गुना ज्यादा होती है। आपको बता दें कि सुपर कंप्यूटर 2 लाख डॉलर से लेकर 100 मिलियन डॉलर से भी अधिक कीमत के हो सकते हैं।

सुपरकंप्यूटर सबसे पहले 1960 के दशक में आये थे। इसे  मैनचेस्टर विश्वविद्यालय में एटलस (Atlas) के साथ सीमोर क्रे (Seymour Cray) द्वारा विकसित किए गए थे। बता दें कि क्रे ने सीडीसी 1604 (CDC 1604) को डिजाइन किया जो दुनिया का पहला सुपर कंप्यूटर था, और इसमें वैक्यूम ट्यूब की जगह ट्रांजिस्टर का इस्तेमाल किया गया था।

विश्व या दुनिया का सबसे तेज सुपर कंप्यूटर कौन सा है?

अमेरिकी सुपरकंप्‍यूटर Frontier दुनिया का सबसे तेज सुपर कंप्यूटर बन गया है। आपको बता दें कि Frontier पहला ऐसा कंप्यूटर है जो कि एक्सास्केल (exascale)  के दायरे में आ गया है। जिसका मतलब यह है कि यह कंप्यूटर 1 सेकंड में क्विनटिलियन कैलकुलेशन (quintillion calculations) कर सकता है। इस कंप्यूटर की स्पीड इतनी ज्यादा है कि हम अपने साधारण कंप्यूटर से इसकी तुलना ही नहीं कर सकते हैं। आपको बता दें कि Frontier ने जापान के सुपरकंप्‍यूटर फुजित्सु (Fujitsu) को पीछे छोड़ते हुए पहले नंबर पर आ गया है।

सुपर कंप्यूटर के विशेषताएं

  • सुपर कंप्यूटर एक ही समय पर  में सौ से अधिक उपयोगकर्ताओं ( users) का
  • समर्थन कर सकते हैं।
  • इनकी सबसे खास बात यह होती है कि यह बड़ी मात्रा में गणनाओं को करने में
  • सक्षम हैं जो मानव कभी नहीं कर सकता है। मतलब सुपर कंप्यूटर का मुकाबला मानव कभी नहीं कर सकता।
  • एक समय पर कई बारे लोग सुपर कंप्यूटर का उपयोग कर सकते हैं।
  • यह मशीने बाकि सभी कंप्यूटर से महंगी होती है।
  • सुपर कंप्यूटर में  1 से अधिक CPU (सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट) होते हैं।
  • सुपरकंप्यूटर सीपीयू की कंप्यूटिंग स्पीड बाकि सभी कंप्यूटर से अधिक होती है।
  • यह कंप्यूटर संख्याओं के जोड़े की बजाय संख्याओं की सूचियों के जोड़े पर काम कर सकता है।
  • सुपर कंप्यूटर का उपयोग पहले राष्ट्रीय सुरक्षा, परमाणु हथियार डिजाइन के लिए, क्रिप्टोग्राफी आदि में किया जाता था, लेकिन आजकल इनका इस्तेमाल एयरोस्पेस, ऑटोमोटिव और पेट्रोलियम उद्योगों में भी किया जाने लगा है।

सुपर कंप्यूटर का उपयोग

सुपर कंप्यूटरों का उपयोग बड़ी गणनाओं को करने के लिए किया जाता है। इन्हें रोजमर्रा के कार्यों के लिए नहीं किया जाता है। यह उन एप्लीकेशन को संभालता है जिन्हें रीयल-टाइम प्रोसेसिंग की आवश्यकता होती है।

सुपर कंप्यूटर का इस्तेमाल वैज्ञानिक सिमुलेशन (scientific simulations)और रिसर्च में जैसे मौसम पूर्वानुमान (weather forecasting), मौसम विज्ञान (meteorolog), परमाणु ऊर्जा अनुसंधान (nuclear energy research), भौतिकी और रसायन (physics, and chemistry) के अलावा  एनीमेशन की फील्ड में भी किया जाता है। इसके अलावा नै बीमारियों  की व्याख्या करने और बीमारी के व्यवहार और उपचार की भविष्यवाणी करने के लिए भी किया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*